भारत के दिल उत्तर प्रदेश में भाजपा को कितनी सीटें मिलेंगी?

चुनाव 2019:

दुनिया का सबसे बड़ा चुनाव भारत मे चल रहा है और इसका परिक्षेप 23 मई 2019 को हो जाएगा। कांग्रेस ने भी कह दिया है कि वह प्रधानमंत्री पद की दावेदारी नही कर रही है। यह तो लगभग सभी मान चुके है कि भाजपा की सरकार फिर बन रही है पर 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश में क्या 73 सीटों के 2014 के परिणाम को दोहरा पाएंगे?

उत्तर प्रदेश का जाती वाद:

दिसंबर 2006 में, भारतीय जनता पार्टी ने लखनऊ में अपनी राष्ट्रीय परिषद की बैठक की। यह अटल बिहारी वाजपेयी सम्मिलित अंतिम सम्मेलन था। पूर्व प्रधान मंत्री वाजपेयी इस सम्मेलन में कहा था, “उत्तर प्रदेश की स्थिति एक चुनौती है और हमें इसका सामना करना चाहिए। हमें उत्तर प्रदेश में फिर से पार्टी को खड़ा करना है और इसे प्रभावशाली बनाना है। हम सभी जानते हैं कि दिल्ली की सड़क लखनऊ से होकर जाती है। देश के राजनीतिक मानचित्र को बदलने की कुंजी उत्तर प्रदेश में है। यहां तक कि जब आप इसे तोड़ते हैं, तो लक्की नाउ, लक नाउ भी महत्वपूर्ण है। यह भाग्य हमारे दम पर नहीं आएगा, हमें इसे हथियाना होगा। ”

भाग्य 2013 तक भाजपा की ओर नहीं मुस्कुराया, जब भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने अपने भरोसेमंद पार्टी के सहयोगी और तत्कालीन नव नियुक्त राष्ट्रीय महासचिव अमित शाह को उत्तर प्रदेश भेजने का फैसला किया, ताकि ‘भाग्य’ को पकड़ा जा सके।

2014 में, भाजपा ने राज्य की 80 संसदीय सीटों में से 73 सीटें (सहयोगी दल दल द्वारा जीती गई दो सीटें) हासिल कीं। भाजपा महागठबंधन (282 सीटें) के साथ आम चुनाव जीतने के बाद से सरकार में है।

19 मई 2019 को होने वाले मतदान के सातवें और अंतिम चरण के साथ, नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की सत्ता में वापसी और उत्तर प्रदेश में भाजपा के पक्ष में आने वाली सीट हिस्सेदारी को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में भाजपा के प्रतिद्वंद्वी एक वैकल्पिक सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं, जिसमें उम्मीद है कि अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी, मायावती की बहुजन समाज पार्टी और अजीत सिंह की राष्ट्रीय लोक दल के गतबंधन (गठबंधन) और मुस्लिमों, यादवों, दलितों और उनके संयुक्त वोटों के अंकगणित से विजयी होंगे। राज्य में जाट क्या भाजपा को किनारे कर सकते हैं? फिर ऐसे लोग भी हैं जो भाजपा को 2014 में हासिल की गई आधी से ज्यादा सीटें नहीं दे रहे हैं, जो की एक आशावाद ही है।

2014 और मोदी का आगमन:

2014 में, एक चुनौती के रूप में, मोदी का आगमन हुआ। मोदी को मिले लोकप्रिय वोटों को बदनाम मनमोहन सिंह शासन के खिलाफ नकारात्मक वोटों का एक संयोजन और मोदी के विकास मॉडल के लिए सकारात्मक वोट समझा गया।

इस बार, उत्तर प्रदेश के लोगों, विशेषकर पुरुषों और महिलाओं से (विशेष रूप से जो सामाजिक पदानुक्रम के निचले पायदान पर) बात करने पर, कोई भी समझ सकता है कि आशा अब प्रधानमंत्री के लिए भरोसे में बदल गई है, जिन्होंने आम लोगों पर बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की है। जमीन, शौचालय, कंक्रीट के घर, रसोई गैस या बैंक खाते हो। उनके वोट चाहे जो भी अंतिम संख्या हो, मोदी के लिए, एक सकारात्मक वोट है और यह टीना (कोई विकल्प नहीं है) कारक नहीं है।

वह लाभार्थी जिन्होंने पक्के मकान प्राप्त किए हैं, अंधेरे में दशकों तक रहने के बाद बिजली की आपूर्ति, गैस सिलेंडरों की प्रप्ति, शौचालय जो महिलाओं को कुछ गरिमा प्रदान करते हैं, किसान सम्मान निधि के तहत एक या एक से अधिक वयस्क परिवार को 2,000 रुपये की दो किस्तेंऔर अन्य लाभ जैसे मुद्रा ऋण आदि के कुल लाभार्थी 10 करोड़ है। विदित हो कि 2014 में मोदी को कुल 17 करोड़ मत पूरे भारत से मिले थे।

नवयुवक मतदाता:

इस चुनाव में 9 करोड़ नए मतदाता है। यह चुनाव को पलट कर रख सकते है। मोदी ने युवा लोगों से, विशेष रूप से पहली बार और दूसरी बार के मतदाताओं से काफी प्रभावित किया है। ग्रामीण क्षेत्रों में उनसे बात करने पर, राज्य की राजधानी के उपनगरीय ब्लॉक, जिलों या विश्वविद्यालय परिसरों में छोटी चाय और पान की दुकानों पर या कॉलेजों के द्वार पर, 10 में से सात से आठ युवक मोदी का नाम लेंगे। रोजगार के मुद्दे उनके दिमाग पर भारी पड़ते हैं, लेकिन वे राहुल के वादों या अखिलेश और मायावती की क्षमता से ज्यादा मोदी की क्षमता पर ज्यादा विश्वास करने को तैयार हैं। राष्ट्रवाद और सर्जिकल स्ट्राइक और आतंकी कैंपों का विस्तार भी मोदी पर भरोसा बढ़ाने में मदद कर रहा है।

अब इस वीडियो को देखिए कि प्रधान मंत्री मोदी काल 16 मई 2019 को उत्तर प्रदेश में इस बारे में कैसे विश्वास के साथ बता रहे है:

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s