उत्तर प्रदेश में अपराध के गढ़: उन्नाव और ऐटा।

उत्तर प्रदेश, बिहार और बंगाल वह इलाका है जिसपे मुगलों का सबसे लंबे समय तक कब्जा रहा था। इस पूरे इलाके में हिंसा और अपराध हमेशा ही लोगों और शासन के लिए सिरदर्द रहता है।

उन्नाव एक छोटा सा शहर है, लखनऊ और कानपुर के बीच स्थित है। सब कुछ बदल गया पर उन्नाव की अपराध परस्ती नहीं बदली। उन्नाव और ऐटा उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा अपराध ग्रस्त इलाके है।

उन्नाव गंगा के किनारे पर बसा है पर उन्नाव में गंगा स्नान के लिए कोई नहीं जाता। कानपुर के लोग गंगा स्नान को बिठूर जाते है, उन्नाव नहीं जाते। क्यों?

उत्तर प्रदेश में पीड़ितों की जिंदगी के लिए लड़ाई:

यूपी के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर 2017 में उन्नाव में अपहरण और बलात्कार का आरोप लगाने वाली महिला उस समय गंभीर रूप से घायल हो गई जब वह जिस कार में यात्रा कर रही थी, वह एक ट्रक से टकरा गई थी। हादसे में उसकी दो चाची भी मारी ग यी। बलात्कार से बचे लोगों के रिश्तेदारों ने दावा किया कि यह केवल दुर्घटना नहीं थी, बल्कि एक साजिश थी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के आवास के बाहर महिला ने आत्महत्या का प्रयास करने के बाद पिछले साल इस मामले पर राष्ट्रीय ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनकी शिकायत पर कार्रवाई नहीं की। यूपी सरकार ने विधायक को बचाने के लिए उन्नाव पुलिस द्वारा कथित प्रयास पर हंगामा करने के बाद मामला सीबीआई को सौंप दिया था। एक दिन बाद, उत्तरजीवी (पीड़िता) के पिता की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई। सीबीआई ने विधायक के भाई सहित पांच लोगों को कथित तौर पर उनकी हत्या के लिए आरोपपत्र सौंपा है।

कल पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने भी घायल पीड़िता का हाल लिया। ट्रामा में पीड़िता के घर वालो से मिलने के बाद बाहर निकले डीजीपी ओपी सिंह ने मीडिया से बात नहीं की और चले गए। इसके बाद सीबीआई की पांच सदस्यीय टीम के ट्रामा सेंटर पहुंचने से खलबली मच गई। सीबीआइ की टीम भी दुर्घटना में घायल से मिली। पीड़िता के साथ वालों ने जानकारी लेने के बाद करीब 15 मिनट में टीम निकल गई।

क्या योगी सरकार है जिम्मेदार:

कहना मुश्किल है। सभी लोग योगी को जिम्मेदार ठहरा रहे है पर वह सभी उन्नाव की अपराधी पृष्ठभूमि को नहीं जानते। यह को इलाका है जहां ५० साल पहले ओद्यौगिक नग्री बसाई गई पर सब फेल क्योंकि अपराध कुछ भी पनपने नहीं देता। सेंगर की पैठ देखिए की सांसद चुने जाने की बाद भी साक्षी महाराज को जेल में जा के सेंगर का धन्यवाद देना पड़ा।

योगी को नए सिरे से सोचने की जरूरत है कि वंशानुगत अपराध को कैसे निपटे। उत्तर प्रदेश में ऐसे कई इलाके और समाज है जो पीढ़ी दर पीढ़ी अपराध को अपनाते है। यह वह लोग है जिनके पुरखे कभी डकैत होते थे। योगी को सोचने की जरूरत है कि ऐसे अपराधियों को कैसे निपटे। इनका इलाज सी बी आई कि पास कतई नहीं है।

Advertisements

1 Comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s